*पुलिस की कार्यप्रणाली आम जनता एवं पीड़ित को समझ आए, इसलिए उर्दू की जगह सरल हिंदी शब्दों का हो प्रयोग*,,,,,,,,,,,,,,,,,,* दीपक मरकाम की रिपोर्ट*

0
105

*पुलिस की कार्यप्रणाली आम जनता एवं पीड़ित को समझ आए, इसलिए उर्दू की जगह सरल हिंदी शब्दों का हो प्रयोग*,,,,,,,,,,,,,,,,,,* दीपक मरकाम की रिपोर्ट*

*गृह मंत्री श्री विजय शर्मा ने अपर मुख्य सचिव को लिखा पत्र*

रायपुर:::::::::::::::: उप-मुख्यमंत्री व गृहमंत्री विजय शर्मा ने छत्तीसगढ़ पुलिस की कार्य प्रणाली में उर्दू, फारसी के शब्दों को हटाकर इनकी जगह सरल हिंदी शब्द जोड़ने के लिए राज्य के अपर मुख्य सचिव को पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने इस बात पर जोर दिया है कि छत्तीसगढ़ पुलिस अपनी लिखा-पढ़ी और बोलचाल में उर्दू, फारसी के शब्दों की जगह सरल हिंदी शब्दों का प्रयोग करे, ताकि आम जनता या पीड़ित को पुलिस की कार्यप्रणाली समझ आए।

गृह मंत्री श्री शर्मा ने कहा है कि 1896 के समय से पुलिस विभाग में प्रयोग में लाए जा रहे कई शब्द आम लोगों की समझ में नहीं आते, इसलिए इन्हें बदलना आवश्यक है। छत्तीसगढ़ राज्य बनने के 24 साल बाद व्यापक जनहित यह अच्छी पहल होगी।

हमारे पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश की पुलिस ने अब अपनी कार्य प्रणाली में उर्दू के शब्दों का प्रयोग नहीं करने का निर्णय लिया है।

वहां पुलिस की लिखा-पढ़ी और बोलचाल की भाषा में उर्दू, फारसी और अन्य भाषाओं के 69 शब्दों का प्रयोग बंद करके इनकी जगह हिंदी के शब्दों का उपयोग किया जाने लगा है। यह अच्छा उदाहरण है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here